agriculture news in marathi, 180 farmers Unions to march delhi, Raju Shetti | Agrowon

देशभर के १८० किसान संगठन दिल्ली पर धावा बोलने को तैयार
उमेश घोंगडे
गुरुवार, 9 नोव्हेंबर 2017

इस रॅली में पूरे देशभर से दस लाख किसानों को एकत्रित करने का संकल्प संयोजन समिती द्वारा किया गया है. जयसिंगपुर में  गन्ना परिषद की सफलता के बाद सांसद शेट्टी का आत्मविश्वास बढ़ चुका है. इसी के साथ, पिछले वर्ष की अपेक्षा  प्रदेश सरकार द्वारा मुआवज़े में प्रति टन दो सौ रुपयों की बढ़ोतरी इस बार करने की घोषणा के कारण भी उनके हौसले बुलंद हैं. देशभर के किसान संगठनों को इकट्ठा करने के लिये सांसद शेट्टी ने  अलग अलग राज्यों का दौरा किया है.

पुणेः  मोदी सरकार की किसान विरोधी नीति का निषेध प्रदर्शित करने के लिये , आने वाली २० नवंबर को देशभर के १८० किसान संगठन, दस लाख किसानों समेत दिल्ली पर धावा बोलने को तैयार हैं. इस में स्वाभिमानी शेतकरी संगठन की ओर से क़रीब दस हज़ार किसान तथा महाराष्ट्र में आत्महत्या कर चुके किसानों की विधवायें भी शामिल होंगी. संसद सदस्यों जितनी संख्या वाली इन विधवाओं की प्रतिसंसद आयोजित करने का संकल्पित प्रस्ताव राष्ट्रपति के आगे रखा जायेगा.

इस संपूर्ण आंदोलन के आयोजन में स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के अध्यक्ष सांसद राजू शेट्टी की अहम भूमिका है. प्रदेश के और भी कई संगठन इस रॅली में शामिल हो रहे हैं, जिन के माध्यम से लगभग १५ हज़ार किसान इस में सहभागी होंगे. स्वाभिमानी की ओर से किसानों ने इस उद्देश्य से दो रेलगाडियाँ बुक कर रखीं हैं, जो कोल्हापुर से रवाना होंगी. इस के अलावा हवाई जहाज़ और अपने चौपहिया वाहनों से निकलने की तैयारी भी कुछ किसानों ने की है.

इस रॅली में पूरे देशभर से दस लाख किसानों को एकत्रित करने का संकल्प संयोजन समिती द्वारा किया गया है. जयसिंगपुर में  गन्ना परिषद की सफलता के बाद सांसद शेट्टी का आत्मविश्वास बढ़ चुका है. इसी के साथ, पिछले वर्ष की अपेक्षा  प्रदेश सरकार द्वारा मुआवज़े में प्रति टन दो सौ रुपयों की बढ़ोतरी इस बार करने की घोषणा के कारण भी उनके हौसले बुलंद हैं. देशभर के किसान संगठनों को इकट्ठा करने के लिये सांसद शेट्टी ने  अलग अलग राज्यों का दौरा किया है.

पिछले तीन महिनों से वे इस की तैयारी में जुटे हुए हैं. महाराष्ट्र में  संगठन के प्रदेश अध्यक्ष रविकांत तुपकर ने दिल्ली रॅली की तैयारी के लिये पूरे राज्य का दौरा किया है. स्वामिनाथन आयोग द्वारा की गयी सिफ़ारिशों को अमल में लाने की माँग संगठन की ओर से मुख्य रूप से की जा रही है. इसी संबंध में दिल्ली में शक्तिप्रदर्शन की खातिर रॅली का आयोजन होने जा रहा है. दिल्ली में आंदोलन छेडे जाने पर उत्तर भारत की ओर से हमेशा ही अच्छी प्रतिक्रियायें प्राप्त होती आयी हैं. यह ध्यान में रखते हुए उत्तर भारत के साथ ही दक्षिण भारत से भी किसान बड़ी संख्या में  इस रॅली में शामिल हों, इस के लिये संयोजन समिती प्रयास कर रही है.   हर राज्य से निकलने वाली रेलगाडियों तथा जहाँ कहीं से इस रॅली के लिये आने वाले किसानों की तादाद अधिक होगी , वहाँ से स्वतंत्र रेलगाडी की व्यवस्था के लिये  संबंधित सभी राज्यों के संगठन प्रयत्नशील हैं.

इतर ताज्या घडामोडी
मत्स्यपालनामध्ये योग्य तांत्रिक बदलांची...सध्याच्या मत्स्यपालन पद्धतीमध्ये कोणतेही बदल न...
जळगाव बुरशीयुक्त शेवयांच्या प्रकरणात...जळगाव ः शालेय पोषण आहार वाटपानंतर अंगणवाडीमधील...
सातगाव पठार परिसरात बटाटा लागवडीस सुरवातसातगाव पठार, जि. पुणे : काही गावांमध्ये पावसाने...
सोलापूर जिल्ह्यात विजांच्या कडकडाटासह...सांगोला/करमाळा : जिल्ह्याच्या काही भागांत...
पुणे जिल्ह्यात पावसामुळे भात...पुणे : गेल्या काही दिवसांपासून पावसाने दडी...
मातीचा प्रत्येक कण सोन्यासारखा; तो वाया...नाशिक : शेतातील माती म्हणजे कोट्यवधी सूक्ष्म...
नांदेड जिल्ह्यात १ लाख ६५ हेक्टरवर पेरणीनांदेड ः नांदेड जिल्ह्यामध्ये यंदाच्या खरीप...
शेतकऱ्यांना पीककर्ज देणे टाळले तर ठेवी...नगर  ः शेतकऱ्यांना सध्या खरीप हंगामासाठी...
सातारा जिल्ह्यात पावसाचा जोर कायमसातारा  ः जिल्ह्यातील वाई, महाबळेश्वर, माण,...
नांदेड जिल्ह्यात फक्त ८.२९ टक्के...नांदेड ः नांदेड जिल्ह्यातील यंदा खरीप पीककर्ज...
तापीच्या पाण्यास गुजरातचा नकारमुंबई  ः पार-तापी नर्मदा नद्याजोड...
कापूस पीक नियोजनातून हमखास उत्पादन वाढसोनगीर, जि. धुळे ः कापूस उत्पादक शेतकऱ्यांनी...
औरंगाबाद जिल्ह्यात अखेर पाऊस बरसलाऔरंगाबाद  : पावसाच्या प्रतीक्षेत असलेल्या...
`दमणगंगा नदीजोड योजनेचे फेरसर्व्हेक्षण...नाशिक : दमणगंगा (एकदरे) नदीजोड योजनेचे...
मराठवाड्यात साडेतीन लाख हेक्‍टरवर पेरणीऔरंगाबाद : मराठवाड्यातील आठही जिल्ह्यांत ३ लाख ६७...
पीककर्जासाठी बँक अधिकाऱ्याने केली...दाताळा, जि. बुलडाणा : पीककर्ज मंजूर करून...
माॅन्सून सक्रिय, सर्वत्र चांगल्या...महाराष्ट्रावरील हवेचे दाब कमी झालेले असून १००४...
‘एसआरआय’पद्धतीने भात लागवडीचे तंत्रएसआरआय पद्धतीने भात लागवड केल्यामुळे रोपे, माती,...
भूमिगत निचरा प्रणालीद्वारे जमिनींची...पाणी व रासायनिक खते यांच्या अनियंत्रित वापरामुळे...
लागवड सावा पिकाची...जून महिन्यात सावा पिकाची पेरणी करावी. दोन ओळीतील...